“समरस एवं खुशहाल भारत”